brain-storming-kya-hai-aur-mastishk-viplav-ke-sopaan

मस्तिष्क उद्वेलन या मस्तिष्क विप्लव क्या है? | मस्तिष्क विप्लव के सोपान | मस्तिष्क विप्लव की विशेषताएँ और सीमाएँ

मस्तिष्क विप्लव(Brain Storming) क्या है?

मस्तिष्क विप्लव शिक्षण की एक ऐसी विधि है जिसके द्वारा छात्रों के मस्तिष्क में हलचल उत्पन्न की जाती है ताकि वे नवचिन्तन कर सकें तथा उनका चिन्तन मौलिक बने। इसके प्रवर्तक अलेक्स एम. ऑसबर्न हैं। ऑसबर्न का कहना है कि इस विधि से शिक्षण करने पर छात्र का व्यक्तिशः चिन्तन कार्य नहीं करता अपितु सामूहिक चिन्तन ही प्रगट होता है। इसमें छात्रों के समक्ष समस्या प्रस्तुत की जाती है। छात्र उस पर चिन्तन करते हैं। इसमें यदि समूह छोटा होता है तब तो समूह का प्रत्येक छात्र अनुक्रिया करता है। यदि समूह बड़ा होता है तब अधिकांश छात्र अनुक्रिया प्रदान करते हैं। शिक्षक उन सभी अनुक्रियाओं को श्यामपट्ट पर वर्गीकृत करता है। इस प्रकार यह विधि छात्रों को स्वतन्त्र रूप से चिन्तन करने हेतु प्रेरित करती है तथा वे अन्त में शिक्षक की सहायता से समस्या का समाधान ढूँढ लेते हैं।

यह एक प्रजातान्त्रिक विधि है। इसमें प्रत्येक छात्र को अपने विचारों की अभिव्यक्ति का अवसर मिलता है इससे वे सक्रिय रहते हैं। इस विधि को समस्या केन्द्रित भी कहा जा सकता है। इसके द्वारा छात्रों के ज्ञानात्मक पक्ष को सरलतापूर्वक विकसित किया जा सकता है तथा भावात्मक पक्ष भी पुष्ट होता है।

मस्तिष्क विप्लव के सोपान (Steps of Brain Storming)

मस्तिष्क विप्लव की प्रक्रिया हेतु पाँच सोपानों का अनुसरण किया जाता है –

See also  निर्देशन के आधार क्या है? समझाइए | Foundation Of Guidance in Hindi

(i) समस्यानुभूति

(ii) समस्या की व्याख्या

(iii) समस्या का विश्लेषण व प्रदत्तों का संकलन

(iv) सम्भावित समाधानों की खोज तथा उनका परीक्षण

(v) समाधानों का मूल्यांकन।

उपर्युक्त सोपानों से गुजरते हुए छात्र अपनी समस्या का समाधान करते हैं।

इस विधि में शिक्षक को इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि वे छात्रों के समक्ष कुछ विशिष्ट समस्याएं रखें ताकि उन्हें मौलिक चिन्तन का अवसर मिले। इस विधि का प्रयोग शिक्षक जटिल बिन्दुओं के लिए ही करें किन्तु प्रयोग सुनियोजित व सुसम्बद्ध हो।

 

मस्तिष्क विप्लव की उपयोगिता

1. इस व्यूह-रचना में विद्यार्थी शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में सक्रिय भाग लेकर स्वयं अपने प्रयत्नों से समस्या समाधान करने का प्रयत्न करते हैं।

2. इस व्यूह रचना में विद्यार्थियों को सोचने-विचारने और संश्लेषण करने तथा निष्कर्ष पर पहुँचने की क्षमता को विकसित करने का भली-भाँति अवसर मिलता है, जिसके फलस्वरूप उनमें उच्च संज्ञानात्मक क्षमताओं के विकास का मार्ग आसानी से प्रशस्त हो जाता है।

3. इस व्यूह रचना का लाभ विद्यार्थियों की सृजनात्मक और रचनात्मक क्षमताओं के उचित निदान, पल्लवन और पोषण को लेकर है। यहाँ शिक्षण-अधिगम का आयोजन स्मृति और बोध स्तर के स्थान पर चिन्तन स्तर पर सम्पन्न होता है।

4. इस व्यूह रचना के द्वारा सीखा ज्ञान स्थायी होता है।

5. यह व्यूह रचना उच्च कक्षाओं के लिए विशेष उपयोगी है।

6. इस व्यूह रचना के प्रयोग से ज्ञानात्मक व भावात्मक पक्षों का विकास आसानी से किया जा सकता है।

7. यह छात्रों को चिन्तन तथा समस्या समाधान करने के क्षेत्र में उत्साहित करती है।

8. छात्रों में स्वतन्त्रतापूर्वक विचार करने के लिए प्रेरित करती है ।

See also  ग्रीस में सॉफिस्ट दर्शन क्या है | What is Sophiticim Philosophy in Hindi

 

मस्तिष्क विप्लव की विशेषताएँ (Characteristics of Brain Storming)

1. इस व्यूह रचना में छात्र का मस्तिष्क पूरी तरह से सक्रिय रहता है।

2. इससे छात्रों की मानसिक शक्तियों का विकास होता है।

3. यह व्यूह रचना बालक के संज्ञानात्मक पक्ष के विकास में अधिक सहायक है।

4. इसकी सहायता से छात्रों में आत्मविश्वास, मौलिकता एवं सृजनात्मकता आदि गुणों का विकास करने में सहायता मिलती है।

5. यह व्यूह रचना शैक्षिक तथा मनोवैज्ञानिक सिद्धांतों पर आधारित है।

 

मस्तिष्क विप्लव की सीमाएँ (Limitations of Brain Storming)

1. यह व्यूह रचना किसी विषय के अध्ययन की सुव्यवस्थित विधि नहीं है।

2. इसमें मूल्यांकन कार्य कठिन होता है।

3. इसमें परिणामों की भविष्यवाणी नहीं की जा सकती है।

4. इसके अन्तर्गत मूल्यांकन में अधिक समय लगता है।

5. इसमें कुछ छात्र सहभागिता (प्रतिभागी ) करने में उदासीन रहते हैं।

6. इसमें छात्रों का नियंत्रण करना एक कठिन कार्य है।

7. इसमें पिछड़े छात्र को लाभ नहीं मिल पाता हैं

8. इसके द्वारा समस्त विषयों का ज्ञान नहीं प्रदान किया जा सकता है।

9. यह खर्चीली शिक्षण व्यूह रचना है।

 

Disclaimer -- Hindiguider.com does not own this book, PDF Materials, Images, neither created nor scanned. We just provide the Images and PDF links already available on the internet or created by HindiGuider.com. If any way it violates the law or has any issues then kindly mail us: [email protected]

Leave a Reply